चित्रकूट को मिलीं दो नईं तहसीलें

karvi
समस्या सुनाने के लिए अब नहीं जाना पड़ेगा तीस किलोमीटर दूर

जिला चित्रकूट। जिले में अभी तक केवल दो ही तहसीलें थीं। लेकिन अब दो और नई तहसीलें बनने के बाद चार तहसील हो गईं हैं। पहले मऊ और कर्वी तहसील थी। पर दिसम्बर 2013 में मानिकपुर और जनवरी 2014 में राजापुर में तहसील का उद्घाटन हुआ है।
राजापुर कस्बे के लोगों का कहना है पहले लोगों को तीस किलोमीटर दूर कर्वी या मऊ जाना पड़ता था, सुनवाई कब होगी या हो गई है, कुछ सूचना नहीं मिल पाती थी। अब हमारे ही कस्बे में तहसील होने से पता लगाने में आसानी होगी। हर मंगल दिवस को मीटिंग भी होना शुरू हो गई है। मानिकपुर के बेला, नत्थूकोल, गुलाब का कहना है कि हम मज़दूरी करने वाले लोगों को अपनी समस्या सुनाने के लिए कर्वी तहसील में तीस किलोमीटर दूर जाना पड़ता था। इसमें पैसा और समय दोनों बर्बाद होता था। लेकिन अब दोनों ही बचेगा।
एस.डी.एम. संजीव कुमार सिंह का कहना है कि इलाके में तहसील बनने से जनता को फायदा है। उनको यहां वहां भटकना नहीं पड़ेगा। जिले के ए.डी.एम. संतोष कुमार सिंह का कहना है कि तहसीलें मुख्यमंत्री के सीधे आदेश से बन रही हैं।