घर बनलई अधुरा

अधूरा घर पर  छप्पर
अधूरा घर पर छप्पर

जिला शिवहर, प्रखंड तरियानी, गांव जगदिषपुर, वार्ड नम्बर दु अउर तीन। उहाँ के लोग के इंदिरा आवास के लेल बीस हजार रूपईया लगभग बीस साल पहिले मिलल रहई। जेइसे उनकर घर न बन पलई।
उहां केके महदेव पासवान,कन्तो पासवान, भोला पासवान कहलथिन कि लगभग बीस साल पहिले बड़का बाढ़ अलई। जइमें हमर सब के घर दह गेलई। ओही समय हमरा सब के बीस-बीस हजार रूपईया मिलल जइसे घर पूरा न हो पयलक। केतना लोग ओइसहिये लिंटर तक कके छोर देले हय त कोई ओई पर फुस के छप्पर चढ़ा लेले छथिन। अब हमरा सब के नाम से इंदिरा आवास न मिलई छई। उ त बाढ़ के समय लोग के जे रूपइया मिललई उहे देके सरकार रह गेलथिन। एतना महंगाई में लोग जेतना कमाई छई से पेट भी भरना मुष्किल होई छई। ऐहन में घर कहा से बन पतई?
मुखिया मोहम्मद नेहाल अउर प्रखंड विकास पदाधिकारी विनय कुमार सरस कहलथिन कि सब के एक बेर आवास मिल गेल हई उनके दोबारा देबे के कोई प्रावधान न हई। ओई समय बीस हजार के महत्व रहई ओही में लोग के घर बनावे के रहई। अभी एक महिना पहिले सर्वे हो के गेलई कि किनकर घर बनल हई अउर किनकर बाकी हई। अब आगे कि होतई से हम न बताएब।