घर गिरैं के मुआवजा खातिर परेशान

चिल्ला मा घर गिरैं से खपरा लकड़ी चूर होइगें
चिल्ला मा घर गिरैं से खपरा लकड़ी चूर होइगें

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, कस्बा चिल्ला। हेंया के चुन्नी, महेश, बलबीर कहत हैं कि 23 अगस्त 2013 का यमुना नदी के बाढ़ मा हजारन घर गिरे हैं। जेहिके मुआवजा खातिर परेशान हैं।
चिल्ला के रामबाई, राजकुमारी अउर सुखबीर कहत हैं कि मुआवजा दें खातिर लेखपाल लिख लइगा है। चिल्ला का लेखपाल राम लखन कहत है कि चिल्ला कस्बा मा लगभग बीस घर गिरे हैं। सबके नाम के सूची बनाकर प्रशासन का भेज दीन गे है। यहिनतान तारा गांव अउर बजरंगी डेरा के लगभग डेढ़ सौ मड़इन के घर गिरैं के मुआवजा का चेक न मिलैं से तहसील के चक्कर लगावत हैं। बजरंगी डेरा के चन्द्रनिया, जयराम अउर अंगनुवा बताइन है कि 23 अगस्त 2013 का अचानक यमुना नदी मा बाढ़ आवैं से हजारन घर गिर गे रहैं। घर गिरैं का सर्वे भी लेखपाल करिस है।
तारा गांव का सचिव मनोज कुमार पटेल कहत है कि चेक बांट दीन गा हैं। जिनके पूर घर गिरे हैं उनका पन्द्रह हजार रूपिया का चेक दीन गा है अउर जेहिकर कम नुकसान भा है उनका तीन हजार दीन गा है। बांदा एस.डी.एम. गिरीश कुमार शर्मा कहत हैं कि या दरकी के बाढ़ मा प्रशासन मड़इन के मदद करिस है। तीन सौ पैंतिस लोगन का चेक बांटे गे हैं। अट्ठारह लाख रूपिया बांट दीन गा है। तीस लाख रूपिया के अउर मांग कीन गे है।