गैस नई, चूल्हे में बनत खाना

ई गांव में तीन सरकारी स्कूलन में चूल्हा से खाना बनाओ जात हे। जभे कि खाना बनाये खे लाने सरकार ने गैस सिलेन्डर दये हें। जीसे रसोइयन खा खाना बनाये में परेशानी न होय।
कन्या प्राथमिक विद्यालय की रसोइया कौशिल्या अनीता रानी ओर प्रेमवती ने बताओ कि हम ई स्कूल में चार साल से चूल्हे में खाना बनाउत हें। बरसात के महीना में लकड़ी कण्डा भीजे के कारन चूलहा जलाओ नई जलत आय। आगी फूंकत-फूंकत थक जात हें। जभे सरकार के एते से गैस सिलेन्डर दओ जात हे तो काय नई मिलत आय।
शिक्षामित्र प्रतिमा तिवारी ने बताओ कि गैस सिलेन्डर मिले की हमें जानकारी नइयां। अगर हम खा पता होत तो सिलेन्डर की मांग करते।
प्रधान चन्दू अनुरागी ने बताओ कि दो साल पेहले हेडमास्टर के खाता में सिलेन्डर लेय खा रूपइया आओ हतो। ऊने सिलेन्डर लओ हे कि नई पतो नइयां।