गन्दे तालाब को पियत पानी

बिगरो हैण्डपम्प
बिगरो हैण्डपम्प

जिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, कस्बा पनवाड़ी, पशु बजार। एते को हैण्डपम्प आठ महीना से बिगरो परो हे। जीखे कारन बाजार आयें-जायें वाले हजारन आदमी पिये के पानी खा एते-ओते भटकत हे।
दुकानदार रतनलाल ओर मोहम्मद शरीफ ने बताओ कि एते को हैण्डपम्प आठ महीना से बिगरो परो हे। महबूब ने बताओ कि एते हर सोमवार खा जानवरन की बाजार लगत हे। जीमें अलग-अलग गांवन से हजारन आदमी जानवर खरीदंे ओर बेंचें आउत हें। अगर प्यास लगत हे तो पिये के पानी खा एते-ओते भटकत रहत हें। काय से अब एते एकऊ हैण्डपम्प नइयां। जोन रूपइया वाले आदमी होत हें, तो पानी पाउच खरीद के पी लेत हें। जीखे रूपइया नइयां तो ऊ बगल में बनो तालाब को गन्दो पानी पियत हे। एई से हम चाहत हें कि जो हैण्डपम्प बन जाये तो नींक हो जेहे।
प्रधान आशाराम ने बताओ कि ऊ हैण्डपम्प के बिगरें की मोंय कोनऊ जानकारी नइयां। जानकारी होत तो हैण्डपम्प बनवा दओ होतो। अभे जानकारी भई हे तो हैण्डपम्प खा बनवा दओ जेहे।