खेल कूद – बैडमिन्टन में मिली निराशा, लौटी टीम

(फोटो साभार: IANS)
(फोटो साभार: IANS)

वुहान, चीन। चीन देश में बैडमिन्टन खेल की अंतर्राष्ट्रीय स्तर की ‘एशिया बैडमिन्टन प्रतियोगिता’ में भारतीय खिलाडि़यों की टीम को हार का सामना करना पड़ा और एक बार फिर इस प्रतियोगिता से भारतीय टीम खाली हाथ लौटी।
24 अप्रैल को प्रतियोगिता के आखिरी दिन भारत की पी.वी. सिन्धू और साइना नेहवाल क्वाॅर्टर फाइनल मैच हार गईं और वहीं खत्म हुई भारत की दावेदारी। पी.वी. सिंधू को चीन की ली शुएरुई और नेहवाल को ताइवान की ज़्ाू यिंग ने हरा दिया। ली शुएरुई ने आखिर में फाइनल मैच भी जीता और औरतों की श्रेणी में प्रतियोगिता की विजेता रहीं। पुरुषों में भी चीन देश हावी रहा और लिन डैन विजेता रहे।
एक बार फिर भारत को इस प्रतियोगिता में कोई जीत हासिल नहीं हुईं।

अमरीकी बास्केटबाॅल में हिन्दुस्तानी तड़का
कैलिफोर्निया, अमेरिका। अमेरिका के पास कनेडा देश में पले बड़े सिम भुल्लर अमेरिका की बड़ी बास्केटबाॅल टीमों में से एक के लिए खेलेंगे। इस घोषणा के बाद सिम भुल्लर भारतीय वंश के पहले खिलाड़ी बन गए जो बास्केटबाॅल के खेल में चुने गए।
बाइस वर्षीय सिम भुल्लर के माता-पिता पंजाब राज्य के हैं पर कई सालों से कनेडा में रह रहे हैं और यहीं सिम का जन्म हुआ था। सिम ने स्कूल में बास्केटबाॅल खेलना शुरू किया था। बास्केटबाॅल के खेल को अमेरिका में बहुत महत्त्व दिया जाता है। 7 अप्रैल को अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य ने सिम को अपनी टीम में चुना। मई के पहले हफ्ते में सिम बास्केटबाॅल के बारे में जागरुकता बढ़ाने भारत आने वाले हैं।