खेल कूद – आगे की तैयारी

आॅस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड। क्रिकेट वलर््ड कप प्रतियोगिता का मज़्ोदार दौर 18 मार्च से शुरू होने वाला है जब चैदह टीमों में से सिर्फ आठ टीमें बचेंगी। जहां शुरुआत में इस प्रतियोेगिता के लिए लोगों में ज़्यादा जोश नहीं था, वहीं अब भारतीय टीम की एक के बाद एक जीत ने क्रिकेट प्रेमियों को सुबह सुबह उठकर टी.वी. चलाने पर मजबूर कर दिया है। एक समय पर माना जा रहा था कि भारत की टीम पहले ही चरण में बाहर हो जाएगी पर किस्मत और समझदारी से खेले जा रहे मैचों को जीत टीम का सेमी फाइनल तक पहुंचना निश्चित लग रहा है। 18 से 21 मार्च के बीच खेले जाने वाले क्वार्टर फाइनल में भारत का पाला बंगलादेश से पड़ने की सबसे ज़्यादा सम्भावना है। पिछले कुछ मैच रोचक रहे हैं। बंगलादेश ने इंग्लैंड को पंद्रह रनों से हराकर इंग्लैंड जैसी मंझी हुई टीम को बाहर कर दिया। पाकिस्तान ने दक्षिण अफ्रीका की नाक के नीचे से अपनी बेहतरीन गेंदबाज़्ाी के बल पर जीत हासिल की। आयरलैंड ने भी जि़्ाम्बाब्वे को पांच रनों से हराकर दर्शकों का ध्यान आखिरी गेंद तक मैच में लगाए रखा। कई नए रिकाॅर्ड फिर बने। नए रिकाॅर्ड – महेंद्र सिंह धोनी अब वलर््ड कप प्रतियोगिता में भारत के सबसे सफल कप्तान हैं जिनकी टीम ने लगातार नौ मैच जीते। – बांग्लादेश के मुहम्मद महमूदुल्लाह वल्र्ड कप में शतक बनाने वाले पहले बांग्लादेशी खिलाड़ी बने जब उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ एक सौ तीन रनों की शानदार पारी खेली।

(फोटो साभार: IANS)
(फोटो साभार: IANS)

एक नज़्ार साइना पर

दुनिया की सबसे पुरानी और सम्मानित अंतर्राष्ट्रीय बैडमिन्टन प्रतियोगिता में भारत की साइना नेहवाल ने 7 मार्च को फाइनल मैच चीन की कैरोलिन मैरिन के खिलाफ खेला। हालांकि साइना मैच में हार गईं पर उन्हें काफी तारीफ मिली है। भारत में अकसर क्रिकेट के अलावा खेलों को ज़्यादा एहमियत नहीं दी जाती है। साइना नेहवाल ने अकेले बैडमिन्टन में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई है । 2010 में साइना दुनिया में नंबर दो के स्थान पर थीं। और भारत की पहली खिलाड़ी हैं जिन्होंने ओलम्पिक्स प्रतियोगिता में बैडमिन्टन में स्वर्ण पदक जीता। इस मैच में साइना के बेहतरीन प्रदर्शन को खेल की दुनिया में सराहा जा रहा है।