खेलैं का तरसै बच्चा

जमुनी पुरवा का प्राथमिक विद्यालय
जमुनी पुरवा का प्राथमिक विद्यालय

जिला बांदा। हेंया के तीन स्कूलन मा बरसात अउर गांव का पानी भरा है। पढ़ावैं वाले मास्टर बतावत हैं कि या समस्या अधिकारिन से बताइन हैं, पै कउनौ फायदा नहीं भा आय।
ब्लाक बड़ोखर खुर्द, तिन्दवारा गांव का मजरा जमुनी पुरवा। हेंया के प्राथमिक विद्यालय के हेडमास्टर शकुन्तला बतावत है कि कुल अट्ठानबे बच्चा हैं। खेल के मैदान मा बरसात अउर गांव का पानी भरैं से बच्चा खेल नहीं पावंै।
भरखरी गांव का मजरा रेउना। हेंया प्राथमिक अउर पूर्व माध्यमिक विद्यालय एकै मैदान मा बने हैं। इं स्कूलन के बीच मा एक गड़ही है जेहिमा हर साल जुलाई से लइके मार्च तक पानी भरा रहत है। प्राथमिक स्कूल के हेडमास्टर रामकरण यादव बताइन कि प्रधान से कइयौ दरकी कहेंव कि मोरे खाता मा कुछ रूपिया परा है तौ निकाल के पुराई करवा देंव तौ नहीं सुनिस। बी.आर.सी. आफिस मा भी कइयौ दरकी कहे हौं। पूर्व माध्यमिक वि़द्यालय के इन्चार्ज हेडमास्टर अजरा खान बताइन कि बच्चन का बहुतै देखैं का परत है। काहे से यतना पानी भरा है कि बच्चा डूब भी सकत हैं। पढ़ै वाले बच्चा सुशीला, सर्वेश, कल्पना अउर खुशी बतावत हैं कि गंदा पानी हिल के अइत जइत हैं। पानी से मच्छर भी लागत हैं। या मारे फुडि़या, फुंसी अउर बीमारी होय का डेर बना रहत है।
भरखरी के प्रधान छोटी कुशवाहा बतावत है कि हेडमास्टर के पास यतना रूपिया निहाय कि वहिसे गड़ही पुराई जा सकै। नरेगा से भी या काम नहीं करावा जा सकत। बहुतै बजट के जरूरत है। बड़ोखर खुर्द ब्लाक के सहायक बी.आर.सी. प्रभारी आशुतोष त्रिपाठी कहत हैं कि जउन स्कूलन मा पानी भरा है इनतान के बारह स्कूलन के सूची बना के लगभग दस दिन पहिले शासन का भेजी गे है। होंआ से ही कुछ कारवाही होई सकत है।