खबरों में खबर लहरिया

KL Logo 2 copy webसार्थक पत्रकारिता को लेकर खबर लहरिया आज अपने समर्पित समूह के चलते स्वयं में एक खबर बन गया है। हाल ही में प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने खबर लहरिया को प्रदेश का प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया। विषम परिस्थितियों में पत्रकारिता करने के लिए, प्रतिबद्ध महिला पत्रकारों के साहस एवं जोखिम को सराहने के लिए रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित किया गया। पाठकों को बता दें कि खबर लहरिया समूह कम संसाधन और सीमित आय में आपको राष्ट्रीय सामाग्री देता है। जहां बड़े-बड़े पत्र समूह सिर्फ लीपा-पोती किया करते है। वहीं तह तक जाता है। खबर लहरिया के समर्पित पत्रकार घटना स्थल में जाकर पीडि़त पक्ष का साक्षात्कार कर एवं निष्पक्ष भाव से पाठकों के समक्ष खबर प्रस्तुत करते हैं। अपने बेबाक टिप्पणी और स्रोत एवं उसूलों के कारण कई राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय एवं सामाजिक संस्थाओं द्वारा पुरस्कार से सम्मानित होने के बाद भी अखबार ने कभी भी अपनी संपादकीय नीति से समझौता नहीं किया है। दलित विमर्श, अल्पसंख्यक, महिला सशक्तीकरण, साम्प्रदायिक उत्पाद से समय-समय पर पाठकों को जागरूक किया है। अन्ना आंदोलन से लेकर सीमा आजाद,रोहिथ और जे.एन.यू. विवाद पर साहस पूर्ण ढंग से अपनी बेबाक टिप्पणी की है। इन सभी कारणों से पत्रकारिता की दुनिया में अलग छवि रखने वाले साहसी खबर लहरिया समूह को मेरा सलाम!

नाम-मुहम्मद इस्माइल बाजार मऊ, चित्रकूट मो.नं. 9450372214