को अब हो हे समस्यन को समाधान

चरखारी विधान सभा के उप चुनाव के ऊमें दो महीना पेहले से चल रही तैयारी को परिणाम 15 अपै्रल खा मिल गओ हे। समाजवादी पार्टी के नेता उर्मिला राजपूत ने चालिस हजार उन्चास वोटन से विजय प्राप्त करी हे। अब आदमियन खा भरोसा लगो हे की हमाई समस्यन को समाधान हो हे।
ऊसे तो महोबा जिला में समस्यन की कमी नइयां, पे आदमियन खा पिये वाले पानी, किसान आत्महत्या ओर पहाड़ में जघा-जघा काम करे वाले बाल मजदूरन की सबसे बड़ी समस्या हे। का समाजवादी पार्टी ई समस्या खा दूर कर पेहे।
ई समय सबसे ज्यादा गम्भीर बात तो जा हे कि किसानन ई समय बेमौसम ओलावृष्टि जा फिर बारिस से बोहतई परेशान हे। ई समय किसान आत्महत्या ई समय एक खेल बन के रह गओ हे। आय दिन किसान सदमा जा फिर आत्महत्या करे खा मजबूर हे। सरकार नियम कानूून तो लागू करत हे। पे पलट के कोनऊ खा देखे के लाने समय नई मिलत हे। जोन किसान आत्महत्या करत हे ओई के घर अधिकारी ओर राजस्व विभाग के कर्मचारी पोहोंच जात हे।
महोबा जिला के अभे भी सैकड़न एसे गांव हे जिते लेखपाल सर्वे करन नई गओ हे। सवाल जा उठत हे कि जभे कोनऊ करन बस किसान की मोत हो जात हे परिवार सड़क में आ जात हे तो ऊखे परिवार वालेन खा मुआवजा की बात कही जात हे। का ऐसो होंय के पेहले नई दओ जा सकत हे। जभे सरकार नियम बनाउत हे ओर देने हे तो अपने काम में कर्मचारी काय लापरवही करत हे।
अब किसानन खा आसरा लगो हे कि सत्ता हमाये लाने का करत हे। का अब किसानन की आत्महत्या पे रोक लग पेहे, का पात्र आदमियन खा लाभ मिलहे?