कोटेदार करत मनमानी

हर महीना नहीं देत राशन
हर महीना नहीं देत राशन

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव सिघौटी। हेंया के लगभग 15 मड़ई मिल के 20 मई 2014 का कोटेदार संतोष के खिलाफ डी.एम. शीतल वर्मा का दरखास दिहिन हैं। काहे से उनके गांव का कोटेदार हर महीना गल्ला नहीं देत आय। डी.एम. कारवाही का भरोसा दिहिन हैं।
कार्ड धारक झल्लू, सरजू, अउर संतोष कहत हैं-“हमार राशन कार्ड भर गे हैं तौ कोटेदार एक महीना गल्ला देत है अउर चार महीना का बेच लेत है। एक राशन कार्ड मा मिट्टी का तेल तीन लीटर है अउर तीन किलो शक्कर मिलैं का चाही, पै कोटेदार नहीं देत आय। या समस्या से जूझत हमका दुई साल होत आवत हैं।” गज्जू, देवराज अउर मइयादीन कहत हैं कि अगर हम कोटेदार से कहत हन कि हमार गल्ला दे नहीं शिकाइत करबे तौ कहत है जेतना तुम लोगन का राशन दें का है उतनी कीमत अधिकारिन का दई देहूं। यहिसे हम तहसील दिवस मा डी.एम. का दरखास दीन है।
कोटेदार संतोष का लड़का राम किशोर कहत है कि हमरे ग्राम पंचायत मा अन्तोदय अउर बी.पी.एल. कार्ड हैं। जब हम गल्ला बांटत हन तौ मड़ई ले नहीं आवत। समय बेसमय आवत है तौ कहां से दई देन।