कोटेदारन के खिलाफ कार्ड धारकन का प्रदर्षन

Exif_JPEG_420जिला बांदा, नरैनी तहसील। कोटेदारन के मनमानी अउर कालाबाजारी के खिलाफ जिला अउर तहसील स्तर मा आय दिन कार्ड धारकन का प्रदर्शन होत नजर आवत है। साथै अधिकारिन का दरखास सउंपी जात हैं। यहिके बाद भी लोगन के समस्या का निदान नहीं होत आय।

ब्लाक नरैनी गांव पोंगरी। हेंया के श्यामबाबू ,दिनेश अउर राजकिशोर जिला अधिकारी का दीन गे ज्ञापन मा बताइन कि चार महीना होइगे बी.पी.एल.
कार्ड धारकन का आनलाइन आवेदन करे। यहिके बाद भी गल्ला अउर मिट्टी का तेल वितरण नहीं कीन जात आय। यहिसे हम लोग कोटा के जांच करा के निरस्त करैं के मांग करत हन।
ब्लाक महुआ, गांव दशरथ पुरवा। या गांव के पियरिया, सियादुलारी अउर बलोदिया कहत हैं कि तीन महीना होइगे गांव का कोटेदार हमका राशन नहीं देत आय। अगर गल्ला ले जात हन तौ थप्पड़ दिखावत है। या मारे हम लोग आपन गांव मा नये कोटेदार के मांग करत हन।
kharonch ganva rasan khabar banda pez copyखरौंच गांव के कमला, संती अउर विनोद कुमार बतावत हैं कि हमरे गांव का कोटेदार पुष्पेन्द्र कुमार पटेल है। वा हम गरीब लोगन का राशन नहीं देत आय। जेहिके पास पक्के मकान गाड़ी अउर जमीन हैं। उनका राशन देत है। साथै जउन सरकार से समाजवादी सूखा राहत किट के पैकेट फ्री बांटै खातिर आय हैं। उंई लोगन से सौ-सौ रूपिया लिहिस है। यहिसे हम लोग नरैनी तहसील मा दरखास दीन है। कोटेदार पुष्पेन्द्र का बाप जउन या समय प्रधान भी है। वा कहिस कि हमरे कोटा मा 70 परसेंन्ट लोगन का गल्ला आवत है। वोतना पात्र लोगन का बांटा जात है। जउन शिकायत करत है। उंई चुनाव के समय के विरोधी पार्टी वाले आय। चाह जउन अधिकारी जांच कइके जेतना मिलत है गल्ला वा बांट दे अगर मोहिका ज्यादा मिली तौ ज्यादा बटिहौं।
जिला पूर्ती अधिकारी अनन्द कुमार का कहब है कि जब से खाद्य सुरक्षा के तहत राशन मिलै लाग तौ रोज कुछ न कुछ शिकायत आवत हैं। इं गांवन के भी जांच कइके कारवाही कीन जई।

रिपोर्टर – गीता