केन्द्र में घुसत जानवर, किते बेठायें बच्चा

aanganwadi mahobaजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, गांव बृजरारी। ई गांव में एकई केन्द्र चलत हे। जीमें बाउन्ड्री न होय खे कारन अन्ना जानवर केन्द्र में घुस आउत हें। जीसे केन्द्र में पढे़ वाले छोट-छोट बच्चा डेरात हें। एई से ओते की आंगनवाड़ी केन्द्र में बाउन्ड्री बनवाये की मांग करत हें।
आंगनवाड़ी सम्पत ने बताओ कि में एते सात साल से आंगनवाड़ी के पद में काम करत हों। मोये केन्द्र में सरसठ बच्चा हें। जभे केन्द्र खोलत हों तो पेहले केन्द्र में परो गोबर ओर गन्दगी टारत हों। बाद में बच्चन खा बेठार खे पढ़ाउत हों।
आंगनवाड़ी की सहायिका सुनीता बताउत हे कि अगर में बच्चन खे घरे लिवाउन जात हों तो आदमी अपने बच्चन खा भेजत तक नइयां। कहत हें कि हम आपन बच्चा न भेजबी। काय से ओते बाउन्ड्री नइयां। हमाये छोट-छोट बच्चा हें कहूं कोनऊ जानवर मार देय तो का करबी। ऊ सई कहत हें। काय से एते आदमियन खे जानवर घुस आउत हें। कभऊं-कभऊं तो बच्चन खा मार देत हे। जीसे बच्चा डेरात हें। एई से हम चाहत हें कि केन्द्र में बाउन्ड्री बन जाये तो नींक हो जाय। आगनवाड़ी सम्पत बताउत हे कि मेंने केऊ दइयां सुपरवाइजर अरूणा सिंह खा लिखित दरखास दई हे, पे अभे तक कोनऊ सुनवाई नई भई आय।
सुपरवाजर अरूणा सिंह ओर सी.डी.पी.ओ. मंजला भार्गव ने बताओ कि जित्ते भी केन्द्र ओर केन्द्रन में बाउन्ड्री बनवाये खे परी हे। ऊ मार्च 2014 तक बन जेहे। काय से अभे बजट नइयां।