कुछ त सहारा होतई

w
समीना खातून

जिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी गांव कस्तुरिया, वाड नम्बर पन्द्रह। उहां के समिना खातुन के पति मोहम्मद मंसूर के मरला लगभग चार महिना हो गेलई लेकिन उनका कोई सुविधा न मिल रहल हई।
समीना कहलथिन कि हमर पति पहिले से ही विकलांग रहें। पैड़ जांघ मे सटल रहे जई करण घाव हो गेल। चंदा लगा के इलाज करइली लेकिन न बचलक। पहिले  उ विकलांगें सही लेकिन बइठल-बइठल मुर्गी के मांस बेचईत रहथिन, ओही से

परिवार चलई। लेकिन आई त विपत पर गेल। ककरो-केकरो काम क देइछी त लोग जे कुछ देई छथिन ओहि से अपन गुजर करई छी। पांच गो बच्चा के साथ घर चलाना मुस्किल हई। जेहे परिवारीक लाभ मिलईत त कुछो सहारा हो जाईत।
मुखिया नाजो खातुन के पति अमीन अंसारी कहलथिन कि अभी उनकर कागजे तईयार हो रहल हई।
प्रखण्ड विकास पदधिकारी विनय कुमार सरस कहलथिन कि अगर उनकर काम पंचायत में न हो रहल हई त उ प्रखण्ड में आवेदन जमा करे। उनका लाभ जरुर मिलतई।