किसान का मिलै मुआवजा

कउन सुनी हमार
कउन सुनी हमार
आपन-आपन बीती बतावत
आपन-आपन बीती बतावत

चित्रकूट जिला के हजारन किसान हमेशा कत्तौ सूखा तौ कत्तौ पानी बरसै के कारन इनतान के समस्या का झेलत हवंै।
ब्लाक मानिकपुर, गांव चुरेह केशरूवा का सुखरामपुर अउर हाता। इं पुरवा के रामलली अउर सुमित्री का कहब हवै कि हम किसान मड़ई आहिन। खेती किसानी कइके अपने परिवार का पेट पालित हन। हम किसान यूनियन मा सदस्य हन। किसान यूनियन जिला मा बना होय के बादौ इनतान के समस्या बनी हवै। यहै से 5 फरवरी 2014 का तहसील दिवस मा धरना धरे रहेन अउर एस.डी.एम. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय का लिखित दरखास भी दीेने हन।
मानिकपुर एस.डी.एम. चन्द्र प्रकाश उपाध्याय का कहब हवै कि लिखित मिल गे हवै। वहिका सरकार के लगे पहुंचावा जई।
ब्लाक मऊ, कस्बा मुरका हिंया के किसान के टमाटर के फसल खराब होइगे हवै। या समस्या एक महीना से हवै। हिंया के उदयराज तीन बिगहा, राजमन के एक बिगहा, श्री निवास के एक बिगहा जमीन मा टमाटर के फसल लगाये रहेन, पै पानी बरसै के कारन खराब होइगे हवै। या बरस घाटा लाग गा हवै। यहै से सोचित हन कि सरकार कइती से मुआवजा मिलै का चाही।

मऊ कानून गो का चार्ज या समय मिश्री लाल लीने हवै। वहिकर कहब हवै कि सरकार कइती से मुआवजा आई तौ किसानन का दीन जई।