किसान का मिली सुविधा

किसान के समस्या खतम करैं खातिर सरकार हमेशा कुछ न कुछ करत रहत हवै। जइसे पिछले बरस किसान का बीज, खाद खरीदैं खातिर अउर गल्ला बेंचै खातिर ग्रामीण स्थापना केन्द्र बनवावैं मा लाग हवै । हम बात करित हन चित्रकूट जिला के।
चित्रकूट जिला मा बुन्देलखंड पैकेज के तहत लगभग बारह बीघा जमीन मा सन् 2012-13 मा चैदह ग्रामीण स्थापना केन्द्र अउर 2013-14 मा पांच ग्रामीण स्थापना केन्द्र बन रहे हैं। कुल मिला के उन्नीस ग्रामीण स्थापना केन्द्र बन रहे हवैं। अब देखैं का हवै कि इं केन्द्र बनै से किसान का केत्ता फायदा मिलत हवै?जबैकि चित्रकूट जिला मा पांच ब्लाक अउर जिला के कुल जनसंख्या दस लाख चैंतिस हजार चार सौ छत्तिस हवै। येत्ती जनसंख्या मा लगभग पांच लाख मड़ई खेती किसानी का काम करत हवैं। का येत्ते ग्रामीण स्थापना केन्द्र बनै से किसान का सुविधा मिल सकत हवै। वइसे तौ अबै गामीण स्थापना केन्द्र बनै से मड़इन मा खुशी देखै का मिल रही हवै। काहे से कि लोगन का यहिमा काम भी मिली। किसान का गल्ला बेंचै खातिर किराया भाड़ा न लगावैं का परी, पै या तौ आवैं वाला समय बताई कि केत्ता फायदा मिल सकत हवै। अगर सरकार ग्रामीण स्थापना केन्द्र के व्यवस्था करैं मा जोर शोर से लाग हवै तौ वहिका या भी देखैं का चाही कि किसान केत्ता खुश हाल हवै। नहीं तौ का फायदा होइ कि करोड़न रूपिया लागै के बादौ समस्या जस के तस बनी रहै। या बात का इंतजार किसान का हमेशा रहत हवै कि सरकार हमार मदद करी।