किसान कहिन नही मिलत सूखा राहत का चेक

taja kesan copyजिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, गांव तरौंहां के गोरेलाल का आरोप हवै कि सूखा राहत का चेक नहीं मिला आय। चेक खातिर कर्वी तहसील के चक्कर लगावत हौं। यहिसे आवैं जाये मा किराया भाड़ा लाग जात हवै।
गांव के विजय पाल का कहब हवै कि पन्द्रह बिगहा जमीन हवै। तीन साल खेती मा कउनौ फसल नींक नहीं भे आय। यहिसे घर का खर्चा नींकतान से नहीं चलत आय। अगर सरकार कइती से सूखा राहत का चेक मिल जाये तौ थोइ सहारा होइ सकत हवै।
यहिनतान रामबाबू कहिस कि भूखन रहैं के कगार मा पहुंच गे हौं खेती मा कउनौ फायदा नहीं मिलत आय। 2015 मा बिना मौसम बारिस होय से फसल बर्बाद होइगे रहै। वहिका अउर अबै सूखा राहत का चेक नहीं मिला आय। यहिसे घर मा दुइ जून चूल्हा तक नहीं जलत आय।
कर्वी कानून गो शिवशंकर का कहिन कि चेक बांटै का काम चलत हवै। अगर उंई किसानन का चेक सरकार कइती से अई तबहिने मिली।

रिपोर्टर – तबस्सुम