किसान करिन आत्महत्या

rajkaran ka bhai sindhankalaजिला बांदा। किसान दिनै दिन आत्महत्या करत जात है, पै प्रशासन के चेक इं किसनन का आत्महत्या से नहीं रोक पाइन आय।
ब्लाक जसपुरा, गांव सिंधनकलां। राजकरन कहिन कि 19 अप्रैल का भाई श्यामकरन फांसी लगा के आत्महत्या कई लिहिस। 10 अप्रैल का कमाके आवा रहै। दस बिगहा मा चना, लाही, अरहर, गेहूं फसल बरबादी का दुख वहिका बहुतै रहा है। 19 अप्रैल का शाम आठ बजे खेत गा, पै लउट के नहीं आवा। ढूढै मा वहिके लास खेत के बबूल के पेड मा लटकत मिली।
ब्लाक बबेरू, गांव पतवन। हेंया के राजेन्द्र का कहब है कि मोर छत्तीस साल का एकलौता लड़का संदीप 17 अप्रैल का फांसी लगा के आत्महत्या कई लिहिस। वहिके हिस्सा मा अट्ठारह बिगहा खेती है। चना, अरहरी बोई छह बिगहा के फसल मा एक भी फल नहीं लाग। पचास हजार का कर्ज लइके तीस हजार्र इंटा पथाइस तौ बरसात मा उंई भी घुल गें।
बबेरू नायब तहसीलदार दिलीप कुमार का कहब है कि शासनादेश के हिसाब से मुआवजा दें के कारवाही कीन जा सकत है।