का हाल होहे गरीबन को

बाहर लेटी सियारानी
बाहर लेटी सियारानी

जिला महोबा, ब्लाक जैतपुर, कस्बा बेलाताल। एते सन् 1971 में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बनो हतो। जीमें तीन पलंग होय के कारन मरीजन खा जमीन में लिटा के इलाज करो जात हे।
मुढ़ारी गांव की सुनीता ओर ननवाहा गांव से आई सियारानी ने बताओ कि हमें छह दिन से बुखार आउत हे। हम प्राइवेट अस्पताल में दवाई कराउत हते, पे जभे आराम नई लगो तो 7 अक्टूबर 2013 खा एते दवाई कराउन आये हें तो हमें बाहर लिटा दओ हे। हमें ठंडी देके बुखार आउत हे। हम एक-एक चादर लये हते तो ओई खा बिछा लओ हे ओर ओढ़े खा कछू नइयां, चारऊ केती से हवा आउत हे। अगर कमरन में होते तो हवा न जात, ओर ठन्डी भी न लागत
बेलाताल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सा अधिकारी प्रदीप कुमार सिंह राजपूत ने बताओ कि जा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र आय। जीमें तीन पलंग हे। एई से आदमियन खा बाहर लिटा के दवाई करी जात हे। जनसंख्या ज्यादा होय के कारन हमने एक साल पेहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बने की मांग करी हे। जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी नवीन कुमार ने बताओ कि ओते पंलग की कमी नइयां। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बने के लाने जिला कार्य योजना में प्रस्ताव रखो हे। जभे पास हो जेहे तो बनवा दओ जेहे।