का दुघर्टना का इंतजार हवै

12जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, बस अड्डा। हिंया एक महीना से सड़क मा गड्ढा हवैं। या गड्ढा पहिले छोट रहै, पै अब वा बढ़त जात हवै। यहिसे कत्तौ भी दुर्घटना होय का डेर बना रहत हवै। का जबै दुर्घटना होइ तबै अधिकारी चेतिहैं? हुंवा के दुकानदार अउर आवै जाये वाले मड़ई का बहुतै समस्या का सामना करै का पड़त हवै।

कर्वी के राम अउर शंकर का कहब हवै कि बांदा से आवै वाली बस इलाहाबाद जाये खातिर बस अड्डा का मा ठाढ़ होत हवै। वा कइती गड्ढा हवै। वा कत्तौ भी धंस सकत हवै। यहिसे बेकसूर मड़इन के मउत होइ सकत हवै। जबैकि रोजै पी.डब्ल्यू डी. विभाग वाले अउर अधिकारी हिंया से निकरत हवैं। कुछ यहिनतान कहत हवै इलाहाबाद से आवै वाले अमन अउर शोभा। उनकर कहब हवै कि चित्रकूट जिला के सड़क का हाल बहुतै खराब हवै। मेन सड़क मा गड्ढा हवै। का यहिका बनावै खातिर कउनौ का चिन्ता नहीं आय? रात बिरात कउनौ भी मड़इन का गोड़ गड्ढा मा घुस जई तौ वा फस सकत हवैं ।

पी.डब्लू.डी विभाग के अधिशाषी अभियन्ता अजय कुमार का कहब हवै कि या राष्ट्रीय राजमार्ग हवै। यहिका बनावैं खातिर बांदा जिला का राष्ट्रीय मार्ग खण्ड लोक निर्माण विभाग हवै वहै बनवाई।”