कारवाही के लाने मिलहे पीली पर्ची

kasba se mahoba sp harishchandar copyमहोबा जिला के थाने में परेशान व्यक्ति कारवाही कर के लाने नाम पे दरखास देहे तो ऊखे पीली पर्ची के नाम की रसीद मिलहे। जीमें फरियादी को नाम पता ओर किस चीज की दरखास दई जेहे। जीसे थाना ओर कोतवाली के दरोगा कारवाही करे मे मनमानी न करहे। ईखी शुरू आत महोबा एस.पी. हरिशचन्द्र ने करी हे।
जा जानकारी 20 फरवरी खा एस.पी. आफिस ने प्रेस कांन्प्रेस में कहो की पीडि़त परिवार खा अभे तक थाना के जिम्मेंदार कर्मचारी जांच के नाम पे कारवाही न करके टहला दओ जात हे। जीसे फरियादी खा न्याय के लाने भटकने परत हे। ऊखे पास कोनऊ प्रारूप नईं होत हे, की ऊने कहूं कहो हे की नई। कोनऊ मोये एते आउत हे तो मे भी फोन करके पता करत हों की का मामला हे। अब कोनऊ भी दरखास लेके आहे तो ऊखे पीली पर्ची काट के दई जेहे। आसानी से कारवाही हो सके। फरियादी खा न्याय ओर अपराधी खा सजा मिल सके। अगर जांच करें वाली दरखास हो हे तो 24 से 48 घण्टा के भीतर जांच करके मुकदमा लिखो जेहे। अगर बिना जांच करें वाली दरखास होहे तो तुरतई मुकदमा लिखके कारवाही करी जेहे। कारवाही में कोनऊ भी लापरवाही पाई गई तो जांच करें वाले ओर थाना अध्यक्ष के ऊपर कारवाही करी जेहे। अगर कोनऊ चेंकिग अचानक करने हे तो आलआउट आॅपरेशन नाम को अभियान दो से तीन घण्टा तक चलाअे जेहे। जीसे थाना के सभ दरोगा सिपाही ओर थाना अध्यक्ष रोड पे आ जेहे, थाना में दिवान रेहे। ईखे साथे सब थाना के दरोगा थाना अध्यक्ष ओर सी.ओ. ने रात मे फलैग मार्च निकालहे पूरे कस्बा चैराहे मे पैदल घूमें, जिससे शान्ति व्यवस्था बनी रेह।