कहूं बने नइयां तो कहूं सूची से काट दये नाम

rashan card se kate name akauni gao copyजिला महोबा, ब्लाक चरखारी ओर जैतपुर। ई ब्लाकन के गांवन मे कहू आदमी राशनकार्ड की मांग करत हे तो कहूं बी.पी.एल. सूची मे नाम नई आये हे। जीसे गरीब आदमी लाभ पाये के लाने एते ओते भटकत हे।
चरखारी गांव इमिलिया डांग को प्रागीलाल कुशवाहा बताउत हे की मोये परिवार मे छह बच्चा हे। आज तक मोओ कोनऊ राशनकार्ड नई बनो हे। में मजदूरी कर परिवार को भरण पोषण करत हों। गजराज कुशवाहा, रमेश ओर कल्लू बताउत हे की हमाये भी राशनकार्ड बन जायें तो ठीक रेहे। काय से मजदूरी ज्यादा नईं लगत हे। हमने केऊ दइयां प्रधान ओर कोटेदार से कहो हे, राशनकार्ड बनवा देय, पे ऊ नईं सुनत हे। हमाय बच्चा अंधेरे मे रहत हे। अगर राशनकार्ड बन जायें तो मिट्टी को तेल मिलहे, जीसे घर मे उजारो हो हे। गांव मे बीस एसे परिवार हे जीखे रशनकार्ड नई बने हे।
कोटेदार राजाराम बताउत हे की पांच महीना पेहले राशनकार्ड के फारम भरे गये हे। ऊं लोगन ने फारम न भरें हो हे। जीसे नई बने हे। अभे फारम भी नई भरे जात हे। जभे दूबारो से आदेश आहे तो ऊखे भी राशनकार्ड बनवायें जेहे।
ब्लाक जैतपुर, गांव अकौनी के टुट्टी, सरजूवा ओर सुन्दर को आरोप हे की कोटेदार ने हमाये 22 आदमियन के बी.पी.एल. सूची से नाम काट दये हे। हमें राशन नई मिलत हे। हम लोग कच्चे घर के एक-एक कमरा मे अपन गुजारा करत हे। हरदास ओर राजेश कहत हे की हमें 10 दिन पेहले हमने सूची मे देखे तो पता चलो की हमाये तो सूची से नाम गायब हो गये हे। 26 अपै्रल खा कुलपहाड़ तहसील मे दरखास दई हे।
कोटेदार हरीसिंह कहत हे की मेने कोनऊ के नाम नई काटे हे। ई बोहतई गरीब हे। ईखे अन्तोदय राशनकार्ड बने खा चाही। पूर्ति विभाग को इंन्स्पेक्टर बी.के. महान बताउत हे की गांव में लेखपाल खा भेज के सर्वे कराओ जेहे। अगर पात्र हों हे तो लाल राशनकार्ड बनवाओ जेहे।