कहीया मिलतइ कागज

सबीना खातून अउर जनारसी देवी
सबीना खातून अउर जनारसी देवी

जिला सीतामढी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत पोसुआ पटनिया, गांव पटनिया। उहां के सबीना खातून अउर जनारसी देवी के विधवा भेला लगभग तीन साल हो गेलइ। उ अश्रित प्रमाणपत्र बनावे के लेल कागज जमा कयले छथिन। लेकिन अभी तक न मिललइ।

सबीना खातून अउर जनारसी देवी कहलथिन की हमर सबके पति बिमारी के कारण मर गेल। जेइ कारण घर-परिवार चलावें में दिक्कत होइय। परिवार के सब लोग हमरे पर अश्रित हय। ओइ के लेल आश्रित प्रमाण पत्र बनावे के लेल लगभग एक महिना पहिले अंचल कार्यालय में आवेदन जमा कइली। कागज इहां से मिल जाइत त हमसब जिला में जमा कदेब। सरकारी रुपइया मिल जाइत त कोई रोजगार करती।

श्रम विभाग के सामान्य लिपिक श्रीमति विनोद झा कहलथिन कि जिनका परिवार में कोई कमाय वाला न रहइ छई। उनकर उमर अगर अठारह से पैसठ वर्ष के बिच हई त सामान्य मौत पर तीस हजार अउर दुर्धटना से मौत पर एक लाख रुपइया मुख्यमंत्री असंगठन श्रम सतावदी योजना के तहत उनका परिवार के लोग के देल जाई छई। अइ के लेल उनका परिवार के लोग के आश्रित प्रमाणपत्र जमा करे परई छई।