कहां जायेगें अतिकुपोशित बच्चा

जिला षिवहर में पोशण पूर्णवास केन्द्र लगभग दस साल से खुला हुआ था। जो 12 मई से भवन क्षतिग्रस्त होने के कारण बंद कर दिया गया। जिस कारण अति कुपोशित बच्चा को कुपोशण दुर करने के लिए सुविघा नहीं मिल पा रही है।

जिला के तरियानी प्रखण्ड के केन्द्र संख्या उनचास के सेविका सुषीला प्रसाद और केन्द्र संख्या पच्चास के सेविका उर्मिला प्रसाद का कहना है कि पहले तो हमलोग पोशण पूर्णवास केन्द्र में अति कुपोशित बच्चा को भेजते थे। लेकिन अब बंद हो गया है, तो कार्यालय से पता करना होगा की वैसे बच्चो को कहां पर सुविधा दिया जाएगा। क्योकि हमलोगो को कुछ बताया भी नहीं गया है। आषा सीमा सिंह, रूबी कुमारी ,आषा कुमारी का कहना है कि भवन चयन करने में तो समय लगेगा। अभि भी हम लोग के पास अति कुपोशित बच्चा है। इसके लिए सीएस से बात करना होगा।

पूर्णवास केन्द्र के जिला समन्वयक सुनिल कुमार का कहना है की 11मई के भूकंप आया उसमें भवन क्षतिग्रस्त हो गया है। जिस कारण 12मई से बंद कर दिया गया है जब तक भवन व्यवस्थित न हो जाता है तब तक बंद रहेगा। इसके लिए राज्य को चिट्ठी भेजी गई है। वहां से आदेष आने के बा ही कुछ किया जाएगा।