कर्ज भरौ नहीं होई जई नीलामी अउर कुर्की

kisan yuniyanजिला बांदा। 24 फरवरी का डेढ़ सौ गांव के लगभग पांच सौ किसान भारतीय यूनियन के अगुवाई मा डी.एम. का ज्ञापन दिहिन हैं। काहे से स्टेट बैंक कइत से 21 फरवरी का सात सौ किसानन के नाम कर्ज भरैं के नोटिस भेजी गे है।
तिन्दवारा गांव के प्रभा बताइन कि उनके नाम 21 फरवरी का एक लाख रुपिया के नोटिस आई है। तिन्दवारा के अमरमणि कहिन कि कुल सात सौ नोटिस भेजी गई हैं जेहिमा दुई सौ नोटिस एक लाख रुपिया का लीन गा कर्ज के भी शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट के हिसाब से एक लाख से कम कर्ज लें वाले क्रेडिट कार्ड के नोटिस नहीं भेजी जा सकत। नोटिस मा या भी है कि कर्ज भरैं के साथै दस प्रतिशत ब्याज भी भरैं का परी। अगर समय से क्रेडिट कार्ड का कर्जा न भरा जई तौ नीलामी अउर कुर्की करा लीन जई।
ए.डी.एम. दया शंकर पाण्डेय का कहिन कि नोटिस भेजैं मा रोक नहीं लगाई जा सकत आय। वसूली के समय किसानन का उत्पीड़न जइसे जेल भेजब, घर के कुर्की अउर नीलामी न कीन जई। कर्जा तौ भरैं का ही परी।