कब तक होतई सुधार

IMG_0002
आम सभा के बैठक

02 अक्टूबर के जिला के विभिन्न पंचायत मे ग्राम सभा के आयोजन कयल जाई छई। जेईमें सब लोग अपन-अपन काम हेतु आवेदन जमा करई छथिन अउर अनेक तरह के योजना पारित होई छई। लेकिन धरातल पर केतना काम होइ छई से कोन अधिकारी न जनई छथिन।
साल में चार बेर ग्राम सभा करे के हई लेकिन इ केतना बेर हो पवई छई? जनता के कहना हई कि हम त साल में तीन चार बेर आवेदन जमा करइले कुछ काम होई छई अउर कुछ काम कागजे पर रह जाई छई। आत सभा या ग्राम सभा में जे योजना पारित होई छई। जब सरकार तरह-तरह के योजना लागु केले छथिन। लेकिन कहाँ तक काम हो पवई छई? काम ओही लोग के होई छई जे बोले वाला छथिन। जहां तक पहुँचे के चाहि उहां तक अभी भी बहुत कम योजना के लाभ पहुँच पवई छई।
जई कारण उनका सब के जे सुविधा मिले के चाहि उ लोग सुविधा से वंचित रह जाई छथिन। जेइसे अपन जिन्दगी गरीबी मे ही झेलते रह जाई छथिन। अगर सरकार योजना के लाभ के घोषना करबयले छथिन त जांच करके लाभ देबे के नियम लगईथिन तब न? हर तरफ खाली लोग अपन जेब भरे के फेर में रहई छथिन। एई बात पर अधिकारी लोग सबके ध्यान देवे के चाहि।