कबै तक चलै बच्चन के बोतल का पानी

पानी के आशा मा बच्चा
पानी के आशा मा बच्चा

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव परसौड़ा। हेंया का प्राथमिक विद्यालय अउर आंगनवाड़ी केन्द्र आस पास चलत है। हेंया का हैण्डपम्प एक साल से बिगड़ा है। यहिसे बच्चन का दुसरे मोहल्ला पानी पियैं खातिर जाय का परत है।
स्कूल मा पढ़ै वाले बच्चा संध्या, सपना अउर केशकली बतावत हैं  कि एक साल से दुसरे मोहल्ला पानी पियैं जात हैं। मड़ई पानी नहीं पियै देत आय। स्कूल मा खाना बनावैं वाली केवला, चैबी अउर फूला कहत हैं कि हमका खाना बनावै खातिर पानी लावैं मा परेशानी होत है। अगर हैण्डपम्प बन जाय तौ नींक है।
शिक्षा मित्र सुनीता का कहब है कि विद्यालय मा 65 बच्चा हैं । हैण्डपम्प बनवावैं खातिर कइयौ दरकी प्रधान अउर बी. आर. सी. प्रभारी से कहा है, पै कउनौ सुनाई निहाय। यहिसे बच्चन का पानी पियै खातिर पढ़ाई छोड़ के घरै जाय का परत है। आंगनवाड़ी केन्द्र के सहायिका बेला देवी बतावत है कि मैं बच्चन के पियै खातिर बाल्टी मा पानी भर के धर लेत हौं अगर हैण्डपम्प बनवा दीन जाय तौ यतनी परेशानी न होय।
प्रधान दर्शनलाल का कहब है कि मोहिका विद्यालय के हैण्डपम्प खराब होय के जानकारी निहाय। अब जानकारी मिली है तौ बनवा दीन जई।
तिन्दवारी बी. आर. सी. प्रभारी महाबीर कहत है कि वा हैण्डपम्प रिबोर मा दीन गा है। अब दूसर हैण्डपम्प लगवा दीन जई।