ऐसे में कैसे सच कहेगी कलम?

24-06-15 Kshetriya Lucknow - Dharna for Jagendra Shahjahanpur webजिला शाहजहांपुर। यहां के जगेन्द्र सिंह नाम के पत्रकार की 8 जून को जलने से मौत हो गई। इसके विरोध में लखनऊ के हज़रतगंज में गांधी प्रतिमा के सामने कई पत्रकारों ने धरना दिया। धरने में अलग अलग जगह से पत्रकार आए थे।

लखीमपुर से धनंजय वाजपयी, दिल्ली से शैलेन्द्र और शाहजहांपुर से आए उदित नारायण ने कहा कि अगर जगेंद्र का कातिल मंत्री नहीं पकड़ा गया तो हम दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना देंगे। जगेन्द्र ही नहीं ये हमारी पूरी पत्रकार बिरादरी की सुरक्षा का सवाल है। अगर आज मंत्री को सज़ा नहीं हुई तो फिर सच लिखने कि हिम्मत कोई नहीं करेगा। इस मामले में सी.बी.आई. जांच होनी चाहिए।

मंत्री जब तक पद में रहेगा तब तक इस मामले की निष्पक्ष जांच नहीं हो सकती। इसके अलावा शाहजहांपुर के डी.एम. और कप्तान को तुरन्त हटाया जाए। आरोपी राज्यमंत्री राममूर्ति वर्मा की गिरफ्तारी हो।

हालांकि इस बीच मुख्यमंत्री ने 22 जून को जगेन्द्र सिंह के परिवार को तीस लाख रुपए और उनके दोनों बेटांे को नौकरी देने की घोषणा की है। इसके बाद पत्रकार के परिवारवालांे ने धरना खत्म कर दिया है।