एस.डी.एम. को कोर्ट की फटकार, कहा संविधान से आगे नहीं प्रशासन

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में पुलिस की जबरदस्ती का एक मामला सामने आया है। यहां कंचन वर्मा नाम की एक हिंदू महिला ने बताया कि जिले के एस.डी.एम. ने इसे इसलिए नारी निकेतन भेज दिया क्योंकि वह एक मुस्लिम लड़के से शादी करना चाहती थी।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 1 जून को अपने फैसले में उस महिला को तुरंत नारी निकेतन से बाहर निकालने का आदेश दिया है। इस महिला को करीब एक महीने से नारी निकेतन में कैदी की तरह रखा जा रहा था। कोर्ट ने एस.डी.एम. को फटकार लगाते हुए कहा कि यह जानने के बाद कि वह बालिग हो चुकी है। वह अपनी पसंद के युवक के साथ रहना चाहती है, उसे नारी निकेतन में भेजने की पुलिस के पास कोई वजह नहीं बची थी।

कंचन वर्मा नाम की एक हिन्दू महिला और उसके पुरुष मित्र नासिर अली को 27 अप्रैल को सी.आर.पी.सी. के सेक्शन 151 के तहत शांति उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। कंचन स्कूल में अध्यापिका हैं। कंचन ने बताया मेरे मां बाप की शिकायत पर हमें एस.डी.एम.के सामने पेश किया गया। इसके बाद अली को गिरफ्तार कर लिया गया और मुझे नारी निकेतन भेज दिया गया। कोर्ट के सामने 1 जून को कंचन और अली ने कहा कि वह दोनों एक दूसरे से प्यार करते हैं और शादी करना चाहते हैं।