एक सौ दो साल की जवान ज़ोहरा

zohra sehgalमैं खुद को मौत के लिए तैयार कर रही हूं। कोशिश कर रहीं हूं कि जब मरूं तब भी मेरे होठों में मुस्कान हो। नायिका जा़ेहरा सहगल ने 27 अप्रैल को अपने 102 वें जन्मदिन में यह बात कही। हम दिल दे चुके सनम में ऐश्वर्या और वीर ज़ारा में प्रीती जिंटा के साथ यह नज़र आईं। चीनी कम है में अमिताभ की मां बनीं।
फिल्मी परदे पर जा़ेहरा हमेशा हंसती, मुस्कराती, चिढ़ाई नज़र आईं। न केवल ज़ोहरा मरने की तैयारी कर रही हैं बल्कि उन्होंने मरने के बाद खुद के अंतिम संस्कार का तरीका भी बताया। उन्होंने कहा मेरे मरने के बाद जलाने की जगह बिजली के ज़रिए मेरा अंतिम संस्कार करना। मेरी अस्थियां घर मत लाना। अगर लानी ही पड़े तो उन्हें बाथरूम में बहा देना।