एक दिन, सब समाधान

उत्तर प्रदेश सरकार ने लोगों की छोटी-मोटी समस्याएं निपटाने के लिए हर थाना कोतवाली में थाना दिवस लागू किया था। यह योजना लगभग ढाई साल से ठप पड़ी है। राज्य में अब  अचानक से थाना दिवस का नाम ‘समाधान दिवस’ रखकर 21 जून 2014 को दोबारा शुरू कर दिया गया है।
जिला महोबा में पहला समाधान दिवस था। लोगों को पता न होने के कारण खरेला थाने में एक भी दरखास नही आई, चरखारी में मात्र तीन, महोबा कोतवाली में नौ, और श्रीनगर और कबरई थानों  में पांच-पांच दरखास पहुंचीं।
ज़्यादा शिकायतें राजस्व विभाग की होने के कारण हर थाने में एक दो शिकायतों का ही समाधान हो पाया।

thaana
अलग-अलग जिलों में होने वाली ‘समाधान दिवस’ पर कई अधिकारी थानों में मौजूद रहे। महोबा में डी.एम. वीरेश्वर सिंह और एस.डी.एम. पूनम निगम भी इसका हिस्सा रहे।