एई तुफान से लाखो के नुकसान

Photo-0148
बन्द परल दुकान

सीतामढ़ी अउर शिवहर जिला में 13 अक्टुबर 2013 से 14 अक्टुबर 2013 तक काफी तुफान अउर बरसा भेलई। जेइ में किसान लोग के बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचलई। खेत में लागल बाली भी बर्बाद हो गेलई। इ समस्या पुरे जिला के हई।
हरिछपरा के राजेश कुमार, अंसु कुमार, सुशीला देवी, मीना देवी इ सब लोग कहलथिन कि एक त घान भी जड़ गेलई दोसर में जे सब्जी लगइली उहो खत्म हो गेल। समय से बरसा न भेलइ त बोर्डिंग से पटा पटा के
धान रोपली लेकिन बिछनो न उपर भेलई। जहिया बारिस के जरुरी रहइ तहिया समय से बारिस न भेलई। मुखिया रामजित बैठा कहलथिन कि इ आफत से बहुत भारी छति पहुंचलइय। कतेक लोग घर से बेघर भी हो गेलथिन। इ प्रकृतिक आपदा हई। एकरा कोन रोक सकइ छई।
एही जिला के रीगा प्रखण्ड, गांव पंछोर के प्रमोद साह कहलथिन कि हम पानी पुरी के बिजनस करई छी। जई में लगभग चार हजार के पुंजी एई दसहरा के लेल लगईली। लेकिन चार बोरा बनायल पुरी पानी में भीग के खराब हो गेल। एही रोजगार से हमर सात लोग के परिवार चलई छई। संग्राम फंदह के हरिकिषोर राय अउर ब्रज किषोर राय कहलथिन कि हम दुनू भाई मुढ़ी कचरी के बिजनस करई छीं एई तीन दिन में लगभग चार हजार रुपईया कमा लेती।
जिला शिवहर प्रखण्ड तरियानी, गांव विश्वम्भर पुर इहां के प्रचुन दुकानदार रामपुकार साह कहलथिन कि हम त सत्तर हजार के खिलौना लायल रहली, जई में मात्र दस हजार के बिकल। एही प्रखण्ड के माधोपुर छाता के मुंसी बनिया कहलथिन किसबसे बेसी छती त दुकनदारे के होलईय। दसहरा में लोग कमा लेई छई। सबसे बेसी बच्चा सब के खिलौना अउर चुरी-लहठी के बिक्रि होई छई। लेकिन एई आफद में मंगायल समान भी रखल रह गेलई। पहिले से पता भी न रहे न त एते समान न मंगइती। एकाएक आयल आफद हमर सब के रोजी रोटी के ही चैपट कर देलक।