उत्तरपूर्व वासियों के खिलाफ दिल्ली में खाप पंचायत का फैसला

download

दक्षणी दिल्ली। दिल्ली के मुनीरका गांव इलाके में 16 फरवरी को हुई पंचायत में किराए में रह रहे उत्तर पूर्व के लोगों से घर खाली करवाने का विवादित फैसला लिया गया।
यह वही इलाका हैं, जहां हाल ही में उत्तर पूर्व के मणिपुर राज्य की 14 साल की एक लड़की के साथ बलात्कार का मामला समाने आया था। इससे पहले 9 फरवरी को हुई पंचायत में भी उत्तर पूर्व के निवासियों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की गई थी। इन्हें गंदे लोग कहा गया था। इससे पहले दक्षिणी दिल्ली के ही खिडकी गांव में उत्तर पूर्व की लड़कियों को आम आदमी पार्टी के नेताओं ने चरित्रहीन कहा था।
मुनीरका गांव जवाहर लाल नेहरू यूनीवर्सिटी के करीब है। उत्तर पूर्व से यहां आकर पढ़ाई करने वाले छात्र छात्राएं बढ़ी संख्या में रहते हैं। हालांकि रिहायशी कल्याण संगठन (आर. डब्ल्यू. ए.) के सचिव भारत सिंह राठी ने ऐसे किसी पंचायती फैसले की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि हम केवल ऐसे लोगों के खिलाफ हैं, जो यहां बाहर से आते हैं, शराब पीते हैं, हुड़दंग करते हैं। उत्तर पूर्व के लोगों के लिए काम कर रहीं सामाजसेवी कार्यकर्ता बीनालक्ष्मी नेपराम के अनुसार मीडिया के सामने यह मामला खुलने के कारण लोग इसे छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।