इतिहास के पन्नों से – बांदा का बसरही किला

23-01-14 Mano - Banda Basarhi Kila 1जिला बांदा, ब्लाक बड़ोखर खुर्द के गांव बसरही में हज़ारों वर्ष पुरानी एक चैकी है। एस चैकी को लोग राजा परमाल की गढ़ी के नाम से जानते हैं। गंाव में रहने वाले बुज़ुर्ग मोतीलाल और रामबालक के अनुसार लगभग छह बीघे ज़मीन में बनी यह गांव की पुरानी इमारत है। पुराने समय में राजाओं का शासन चलता था। तब कालिंजर के राजा परमाल ने यहां पर गढ़ी बनवाई थी। इस गढ़ी का नाम चैकी है। यहां पर राजा प्रजा की बात सुनते थे और अपना निर्णय सुनाते थे। कई सालों से ऐसी पुरानी इमारतों का कोई ध्यान नहीं दे रहा है और ये इमारतें जर्जर पड़ी हैं। सरकार अपने कब्जे में लेने के बाद भी कोई ध्यान नहीं रख पा रही है।