आबादी दुइ हजार, हैण्डपम्प एकौ नहीं

mavai kala chitrakoot webजिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव मवईकला, पुरवा अहीरन का डेरा। हिंया के समदेइया कहिस कि दुइ हजार के आबादी मा एकौ हैण्डपम्प नहीं लाग हवै। लगभग चैदह साल से सड़क के किनारे लाग हैण्डपम्प से पानी लइत हन। पुरवा मा हैण्डपम्प लगवावैं खातिर प्रधान बेबी त्रिपाठी से 2 फरवरी का लिखित दरखास दीन गे, तबहूं समस्या जस के तस बनीं हवै।
पुरवा के नत्थन, बुधई अउर मैकू का कहब हवै कि मड़ई तौ कउनौतान पियै का पानी लई आवत हवै पै जानवर पियासे हिंया-हुंवा भटकत फिरत हवैं। काहे से कि जानवरन का पियै खातिर दुइ-दुइ बाल्टी लाग जात हवै। प्रधान हमरे पुरवा मा हैण्डप्म्प लगवावै खातिर ध्यान दइ दे तौ पानी के समस्या खतम होइ सकत हवै।
प्रधान बेबी त्रिपाठी का कहब हवै कि पांच हैण्डपम्प लगवावै खातिर ब्लाक मा 7 फरवरी का लिखित दरखास दीन गे रहै, पै अबै हैण्डपम्प नहीं पास भे हवैं।
मऊ ब्लाक के बी.डी.ओ. राधेश्याम कहिन हैण्डपम्प लगवा दीन जई।