आत्महत्या करैं का भे मजबूर

रूपा के सास, मनसवा
रूपा के सास, मनसवा

जिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी का पहाड़ी पुरवा। हिंया के रहैं वाली रूपा 20 दिसम्बर 2013 का आगी लगा के मरगे हवै। वहिके उम्र लगभग चालिस बरस रहै। या कहिस रूपा का मनसवा माताबदल।
या मामला का लइके पहाड़ी थाना मा मंुशी गफूर खां से बात कीन गे। वहिकर कहब हवै-“ लाश का पोस्ट मार्टम कइके परिवार वालेन का दइ दीनगा रहै। या बात का पता नहीं लाग कि कउन कारन से वा आगी लगा के मरगे हवै।”
पुरवा के माताबदल का कहब हवै कि मोर मेहरिया रूपा जबै आगी लगाइस रहै। वा समय कउनौ घर मा नहीं रहै। बच्चा स्कूल गे रहैं अउर मैं खेत मा रहौं। बड़ा बेटवा लवकुश आवा अउर देखिस कि कमरा से धुंआ कसत निकरत हवै। पहिले तौ वा आपन महतारी रूपा का बोलाइस अउर हिंया-हुंवा कमरन मा ढूढि़स। जबै नहीं मिली तौ वा परेशान होइगा। जउन कमरा से धुंआ निकरत रहै वा दरवाजा मा लात मारिस अउर भीतर घुस गा जबै तक रूपा पूर जलगंे रहै। अपने बेटवा का देख के रूपा कहिस कि बचा लेव बेटवा मैं मरी जात हौं। वहिका लइके पहाड़ी के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लइके गयेन। तबै तक वा मर चुकी रहै। मोरे पांच बच्चा हवैं। तीन बेटवा अउर दुइ बिटिया हवैं। अब उनके देख भाल कउन करी। पता नहीं कि रूपा इनतान काहे करिस हवै।
कुछौ गांव वालेन का कहब हवै कि वा दिन दूनौ मेहरिया मनसवा मा लड़ाई भे रहै। मनसवा माताबदल आपन मेहरिया रूपा का मारिस रहै।

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव माराचन्द्रा। हिंया 22 दिसम्बर 2013 का गीता के आगी लाग गे। या बात वहिकर बाप कमलेश बताइस हवै। वहिका जले के बाद चित्रकूट सरकारी अस्पताल लाये रहैं। जहां डाक्टर गम्भीर हालत मा इलाहाबाद रिफर कइ दिहिन।
गीता का मइका मध्य प्रदेश के मझगवंा गांव आय। वहिकर बाप कमलेश बताइस कि मैं अपने बिटिया के शादी 22 मई 2013 का गांव माराचन्द्रा मा दीपक के साथै करे रहे हौं। मोर बिटिया का आगी लगा के मारै के कोशिश कीन गे हवै। काहे से कि घर मा लडा़ई भे रहै। वा फोन मा महतारी से बतावत रहै।
गीता के मनसवा दीपक का कहब हवै कि गीता पता नहीं कसत जल गे हवै। हमरे परिवार मा तौ सब वहिका चाहत रहे हवैं।
बहिलपुरवा थाना का दरोगा मनीष बताइस कि अबै तक मइके वाले रपट नहीं लिखाइन। घटना पता चली हवै या से पुलिस पहुंची रहै।