आगी लगा के मारिस

DSCN6586
चुनकी के बहू अउर नाती

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, कुंजन पुरवा। 15 जून 2013 का चुनकी का मनसवा भइयालाल मुंह मा कपड़ा भरके अउर मिट्टी का तेल डाल के रात मा आगी लगा दिहिस हवै। या कारन वा मरगे। या बात कहत हवै चुनकी के बड़ी बहू अनीता।
अनीता बताइस-“ ससुर भइयालाल रोज दारू पीके मारपीट, गाली अउर गलौज करत रहै। वा दिन सास चुनकी का जान से मार दिहिस हवै। दुइ लड़का हवै तौ एक परदेश राजस्थान चला गा हवै। सास ससुर आठ बरस से अलग रहत रहै। सास चुनकी वा दिन बहिल पुरवा से लकड़ी लाई रहै। वहै दिन कउनौ बात का लइके ससुर लड़ाई करिस अउर दारू के नशा मा मार के मिट्टी का तेल डाल के आगी लगा दिहिस हवै। या कारन कउनौ का पता नहीं चल पावा। ससुर का जेल होइ जाये तौ नींक होइ। हम वहिका कत्तौ न छोड़इबे चाहे जेल मा वहिके मउत होइ जाये।” कर्वी कोतवाली के दरोगा अर्जुन लाल का कहब हवै कि वा अपने से आगी लगा के आत्महत्या करिस हवै।