अपहरण कै बढ़त घटना

अक्सर यइसेन घटना सामने आवाथै जेहमा आपसी बिवाद मा गेदहरन कै अपहरण कइके महतारी बाप का मजबूर कराथिन। जेसे मजबूर होइके महतारी बाप का कुछ भी करै का पराथै।
फैजाबाद अउर अम्बेडकर नगर मा अपहरण कै रोज एक न एक घटना सुनै का मिलाथै। कहूं अपहरण कइके हत्या कै गै रहाथै तौ कहूं गुप्त स्थान पै छिपावै कै मामला सामने आवाथै। जेसे महतारी बाप परेषान होइके कोट कचेहरी अउर थाना कै सहारा लियाथिन। तबौ सफलता जल्दी नाय मिलत। यस मनइन कै मानब बाय कि यहि सबके पीछे ज्यादातर पुरानी रंजिष रहाथै। वकै हल न हुवय से गेदहरन कै अपहरण कराथिन। जेसे मजबूर महतारी बाप अपने हक कै लड़ाई नाय लड़ पउतिन।
अकसर देखा जाथै कि कउनौ भी पुरानी रंजिष रहाथै वहमा गेदहरन या परिवार वालेन का बहलाय फुसलाय के लै जाए कै मामला सामने आवाथै। अम्बेडकर नगर ब्लाक कटेहरी मा 7 मार्च का सोलह साज के लड़की कै अपहरण होइगै रहा। वहीं मसौधा ब्लाक के 14 मार्च का कोचिंग पढ़ै गै छात्रा कै अपहरण हुवय कै आरोप घरवाले लगाये रहिन।
15 मार्च का दर्षननगर के सोलह साल के लड़की कै अपहरण होइगै। यइसेन समस्या से घरवाले पता लगावै के ताई दर दर भटकाथिन लकिन कउनौ सुनवाई नाय हुवत। ई सब घटना से षासन प्रषासन भी अनजान नाय बाय। लकिन फिर भी कउनौ ठोस कार्यवाही काहे नाय हुवत? अगर घटना कै खुलासा भी होय जाथै तौ अपहरण करै वाले ही नाय पकड़ा जाते। जेसे तमाम कानून बनते हुए भी लाभ नाय मिलत।