अन्ना जानवरन खातिर मारपीट

pjndaran marpeet - Copyजिला बांदा, ब्लाक बबेरू, गांव पिण्डारन। हेंया के रामबाबू का आरोप है कि 28 जून शाम सात बजे बेर्राव गांव के लगभग पन्द्रह लोग रास्ता छेक के मारपीट करिन। बबेरू कोतवाली पुलिस छह लोगन के खिलाफ रपट लिखिस है।

रामबाबू का कहब है-मैं अउर गांव के संजय, सुनील, मुनुवा गांव के लोगन के सहमति से लगभग सौ अन्ना नील गाय का लइके चित्रकूट पाठा क्षेत्र के जंगल मा छोड़ै जात रहन। बेर्राव गांव पहुंचेन तौ होंआ के कुछ दबंग लोग ओमप्रकाश उर्फ बब्बू, राममूरत, चन्द्रशेखर, बुद्धविलाश, राजकुमार, राकेश अपने साथ दस अउर लोगन के साथै हाथ मा तमंचा, लाठी, डण्डा लइके आ गे। हमैं गाली दें लाग। हम मना कीन तौ ओमप्रकाश तंमचा से हमरे ऊपर फायर कई दिहिस। हम बइठ गयेन तौ गोली नहीं लाग पाई। यहिके बाद लाठी डण्डा से मारपीट करिन। मोरे अउर संजय के बहुतै ज्यादा चोटैं आई हैं। दुबारा फायर कइके जान से मारैं के धमकी दिहिन हैं। मारपीट अउर फायर के हल्ला से गाय भाग गईं। हम 29 जून का नामजद रपट लिखावा है।

ओमप्रकाश उर्फ बब्बू का कहब है कि हम मना कीन कि इं जानवरन का जल्दी हेंया से निकार लई जाव नहीं हमार जानवर भी साथ मा जाय का टोरात हैं। रामबाबू अउर संजय गाली दें लाग। नहीं माने आय। या मारे मारपीट भे है।

बबेरू कोतवाली का दीवान रामलोचन सिंह बताइन कि ओमप्रकाश उर्फ बब्बू, राममूरत, चन्द्रशेखर, बुद्धविलाश, राजकुमार, राकेश के खिलाफ रपट लिखी गे है। रपट मा मारपीट के धारा 323, 504 गाली गलौज अउर 147, 148 (बलवा अधिनियम-जबै एक घटना के अंजाम मा छह से ज्यादा लोग शामिल होत हैं।) आई.पी.सी. लाग हैं। पुलिस गिरफ्तार करैं खातिर ढूढत है।