अधेरे में बीती जात पीढ़ी

बिजली के बिना परेशानी
बिजली के बिना परेशानी

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव सालट को मजरा टपरिया। ई मजरा खा बसे पीढ़ी बीती जात हे, आज तक बिजली नई लगी हे। जीसे आदमी अधेरे में रहे खा मजबूर हे।
मंसाराम ओर कीरथपाल बताउत हे कि ई गांव खा बसे लगभग पचहत्तर साल हो गये हे। आज तक अधेरे में रहत हे। हमाई तो चल गई हे, पे अब लड़का न रह पाउत हे, पढ़ाई नई हो पाउत हे कहत हे की आंखन में धुंआ लगत हे। जभे सरकार लाभ देत हे तो हर गांव खा देय खा चाही। रमेश ओर भोजराज कहत हे कि हमाये बस्ती की आबादी बारह सौ हे। अधेरे में रहे खा मजबूर हे। हम लोग बिजली विभाग में केऊ दइयां दरखास दई हे, ओर कनेक्सन भी लेय खा तैयार हे। बिजली विभाग वाले नई सुनत हे। ़़़़़़़़सरमन ओर फूलसिंह कहत हे कि जभे चुनाव होत हे तो नेता, मंत्री आ जात हे। चुनाव जीते के बाद सब भूल जात हे। हम लोग मोबाइल चार्ज करें खे लाने किराओ लगा के सालट जा फिर गांव जात हे। महोबा बिजली विभाग के अधिशाषी अभियन्ता नेकीराम ने बताओ कि अभे बजट नइयां। अगर कोनऊ योजना के तहत बजट आहे तो ओते लगवा दई जेहे।