अदालत में चलत मुकदमा

गिरजा पविार के साथे अदालत में
गिरजा पविार के साथे अदालत में

महोबा शहर, आलमपुरा मोहल्ला। एते की सुमतरानी आपन बिटिया गिरजा खा लेके अदालत के चक्कर लगाउत हे। काय से गिरजा के विकलांग बिटिया होय के कारन ऊखे आदमी रामकुमार ने घर से निकार दओ हे।
सुमतरानी ने बताओ कि मेंने बिटिया की शादी पचपहरा गांव में करी हती। मोई बिटिया के साथे दामाद बोहतई मारपीट करत हतो।
गिरजा बताउत हे कि मोई शादी 2007 में रामकुमार के साथे भई हती। तभे से मोई सास पार्वती ससुर महीपत ओर आदमी रामकुमार दहेज खा लेके मोये साथे मारपीट करत हते। जभे मोये पेट में तीन महीना को बच्चा हतो। तभई घर से निकारें की धमकी देत हते, पे किस्मत ने भी मोओ साथ नई दओ, ओर विकलांग बिटिया भई। तभई मोये आदमी ओर सास ने मार के निकार दओ। चार साल से में अपने मायके आलमपुरा में रहत हों। ओर खाना खर्चा खा मुकदमा लड़त हो, पे वकील तारीख पे तारीख बढ़ाउत हे।
गिरजा को आदमी रामकुमार कहत हे कि में अभे तक मताई बाप के कहे में परो हतो। अब में गिरजा के साथे मारपीट न करहों, ओर अलग लेके रेहों।
वकील रामसहांय ने बताओ कि गिरजा ओर रामकुमार खा 23 नवम्बर 2013 खा समझौता करा दओ हे, पे अभे दहेज को मुकदमा चलत हे।