अइसन शौचालय कोन काम के

Photo-0016
अईसन हई शौचालय

जिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी के नवस्जित विद्यालय में लगभग तीन साल पहिले शौचालय बनलई। जे बिना उपयोग कयले ढ़ह के गीरे पर तईयार हई। एई विद्यालय में बच्चा के कुल नामांकन एकसौ पचहतर अउर उपस्थिति सौ से एक सौ चालिस तक रहई छई।
विद्यालय के बच्ची रानी कुमारी, सपना कुमारी, आरती कुमारी कहलथिन कि हमरा सब के शौच के लेल सरेह में जाय परईय। शौचालय बनलो हई से कोन काम के?प्रधानाध्यापक नेक मोहम्मद अंसारी कहलथिन कि इ विद्यालय 2007 में ही खुललई। तहिया इ हरिजन बैठका में चलईत रहई। 2011 में एकर भवन बनलई ओही समय संपुर्ण स्वच्छता योजना के ओर से शौचालय भी बनलई। नया  मिट्टी भरायल रहई अउर अच्छा से न पानी पटलकई न धुमसूर कलकई जइ कारण शौचालय बनला के कुछे दिन बाद इ ढ़ह गेलई। अब उ उपयोग के लायक भी न रह गेलई। बच्चा सब जे पांच मिनट चाहे दस मिनट के लेल गेल से घर ही चल गेल। अई के लेल बच्चा के समभालना भी  बहुत मुस्किल हो जाई छई।
पी.एच.ई.डी. के बड़ा बाबु शंकर रजक कहलथिन कि जब तक प्रधानाध्यापक लिख के न दई छथिन तब तक हम सब एनजिओं के भुगतान न करई छी। जई समय शौचालय बनलई ओकर देख रेख के जिम्मेदारी शिक्षक के भी होई छई। अब अगर उ शौचालय खराब हो गेल हई त एई के लेल जिला शिक्षा पदाधिकारी ही कुछ कर सकई छथिन।