हत्या के बाद रपट लिखावै का दर-दर भटकत कुलदीप

SP OFFICE BANDAजिला बाँदा। कुलदीप सिंह आपन बहिनी सुनीता का दहेज के कारन मार के जिन्दा जलावैं का आरोप ससुराल वालेन के ऊपर लगाइस है। या घटना के रपट लिखावैं के खातिर वा 29 मई से पुलिस के चक्कर लगावत है। 12 जून का मन्डलायुक्त का दरखास दइके रपट लिखावै के मांग करिस है।

कुलदीप बताइस कि वा आपन बहिनी के षादी चार साल पहिले लामा गांव के प्रदीप के साथै कीने रहै। दहेज मा तीन लाख रूपिया नगद, मोटर साइकिल अउर एक लाख का सामान दीन है। षादी के बाद से प्रदीप अब दहेज मा चार पहिया के गाड़ी अउर मांगत रहै। न दें मा बहिनी का बहुतै ससुराल वाले दुख देखाइन हैं। हमेषा मारपीट करत रहैं अउर खाना नहीं देत रहैं। 29 मई का पहिले ससुराल वाले घर मा बेड के मारिन हैं। फेर मिट्टी का तेल डाल के जिन्दा जला दिहिन हैं। या मामला के रपट लिखावंै देहात कोतवाली गयेन तौ हांेआ के पुलिस डाट के भगा दिहिस। एस.पी. राकेष षंकर का दरखास दीन तौ भी कउनौ कारवाही नहीं भे। 12 जून का मण्डलायुक्त कल्पना अवस्थी से नियाव के गोहार लगाइस है।

प्रदीप का कहब है कि उंई लोग सुनीता का नहीं मारिन हंै। मइके वाले गलत आरोप लगा के फंसावै चाहत है।
मण्डलायुक्त कल्पना अवस्थी कहिन कि कुलदीप के दरखास आई है। एस.पी.का आदेष दइके थाना मा रपट लिखावंै का कहा गा है। रपट लिखैं के बाद जांच करवाई जई। अगर ससुराल वाले दोषी मिलिहैं तौ सजा जरूर मिली।