प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के प्रशंसक योगी आदित्यनाथ

साभार: न्यूज़स्टेट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज के आडिटोरियम में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना कही जाने वाली ‘आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ का शुभारंभ किया। झारखंड की राजधानी रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के योजना के लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड देने के बाद मुख्यमंत्री ने अपने हाथों से पांच लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आयुष्मान भारत विश्व की सबसे बड़ी आरोग्य योजना है। अब कोई भी गरीब इलाज के अभाव में नहीं मरेगा। हर लाभार्थी के परिवार वाले पांच लाख रुपये तक का इलाज हर साल करा सकेंगे। इसके लिए सरकारी के साथ ही प्राइवेट अस्पतालों से भी अनुबंध किया गया है। उत्तर प्रदेश में पहले चरण में 1.18 करोड़ परिवारों को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है। इसमें केंद्र सरकार का 60 फीसद और प्रदेश सरकार का 40 फीसद का अंशदान है।

उन्होनें कहा कि आयुष्मान भारत योजना की प्रदेश सरकार खुद देखेगी।

बता दें,  गरीबों के लिए बनी इस योजना का हर गरीब लाभ पाएं इसके लिए व्यवस्था बनाई गई है।

मुख्यमंत्री ने लाभार्थियों का आह्वान किया कि वह आयुष्मान भारत योजना का हिस्सा बनने के लिए नमो एप पर आभार जरूर जताएं। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के इतिहास में पहली बार गरीबों के स्वास्थ्य के लिए ऐसी योजना लागू की है। हमें उनका आभार जताना चाहिए।