बांदा जिले के कालिंजर गांव में शौचालय बने पर उनका पैसा नहीं मिला | Swachh Bharat | Khabar Lahariya