51 साल के मुकेश ने पहला एशियन टूर खिताब जीतकर रचा इतिहास

15350589_1261642517225861_2043860798372139617_nमहू के अनुभवी गोल्फर मुकेश कुमार ने 51 वर्ष के उम्र में इतिहास रचते हुए दिल्ली गोल्फ क्लब में 4 दिसम्बर को 4 लाख डॉलर की पुरस्कार राशि वाले छठे पैनासोनिक ओपन गोल्फ टूर्नामेंट में खिताब जीत लिया। यह मुकेश का पहला एशियन टूर खिताब है।
घरेलू भारतीय सर्किट में 120 से ज्यादा खिताब जीत चुके मुकेश ने 51 साल की उम्र में जाकर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय और एशियन टूर खिताब हासिल करने में सफलता पाई। मुकेश ने एक शॉट के अंतर से जीत हासिल की। मुकेश को इस जीत से 72 हजार डॉलर की पुरस्कार राशि मिली।
51 साल की उम्र में यह खिताब जीतकर मुकेश एशियन टूर में खिताब जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए हैं। इसके साथ ही मुकेश अंतरराष्ट्रीय खिताब जीतने वाले 22वें भारतीय भी बने।
मौजूदा एशियन टूर सत्र में भारत के लिए मुकेश ने पांचवां खिताब जीता। इस सत्र में गगनजीत भुल्लर और एसएसपी चौरसिया दो-दो खिताब जीत चुके हैं।
जीत के बाद उन्होंने कहा, “मुझे खुद पर बहुत गर्व है। मैंने प्रोफेशनल बनने के बाद से अपने पहले अंतरराष्ट्रीय खिताब के लिए 32 साल का लंबा इतजार किया। यह मेरी पहली अंतरराष्ट्रीय जीत है और घरेलू सर्किट में 123 खिताबों से अलग है। मैं इसे अपने लिए शानदार उपलब्धि मानता हूं। मैं अगले वर्ष एशियन टूर में खेलूंगा क्योंकि मैंने एशियन टूर का कार्ड हासिल कर लिया है।”