500वां टेस्ट मैच खेलने वाला भारत चौथा देश बना

14354997_1183167965073317_8439599917459469346_nभारतीय क्रिकेट टीम जब 22 सितम्बर को कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ का पहला टेस्ट मैच खेलने उतरी तो वह भारत का 500वां टेस्ट मैच था। यह एक ऐतिहासिक क्षण था जिसे भारत ने जम कर जीया।
इससे पहले इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज़ 500 से अधिक टेस्ट मैच खेल चुके है।
दुनिया में पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच 15 मार्च से 19 मार्च के बीच साल 1877 में मेलबर्न में खेला गया था। इसे ऑस्ट्रेलिया ने 45 रन से जीता।
भारत ने अपना पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 25 से 28 जून के बीच साल 1932 में क्रिकेट के मक्का लॉर्डस में खेला। इसे इंग्लैंड ने 158 रन से जीता।
भारत अभी तक 499 टेस्ट मैचों में 129 में जीता है और 157 में हारा है। 212 टेस्ट मैच ड्रा रहे और एक मैच टाई रहा। भारत का टेस्ट क्रिकेट में सर्वोच्च स्कोर श्रीलंका के ख़िलाफ़ है जब उसने साल 2009 में मुंबई में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में 9 विकेट खोकर 726 रन बनाए।
भारत का सबसे कम स्कोर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ है। तब उसकी पूरी टीम साल 1974 में लॉर्डस में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में केवल 42 रन पर सिमट गई।
भारत की ओर से सबसे अधिक 200 टेस्ट मैच सचिन तेंदूलकर ने खेले हैं। यहां तक कि टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन और शतक बनाने का अनोखा रिकार्ड भी उनके नाम है। उन्होंने 200 टेस्ट मैच में 51 शतक के साथ 15921 रन बनाए है।
भारत की ओर से पहला टेस्ट शतक लाला अमरनाथ ने साल 1933 में मुंबई में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अपने पहले ही टेस्ट मैच में लगाया।
भारत की ओर से सबसे अधिक टेस्ट विकेट अनिल कुंबले के नाम है। भारत के लिए सर्वाधिक व्यक्तिगत रनों की पारी का रिकार्ड विरेंद्र सहवाग के नाम है। टेस्ट क्रिकेट में भारत को सबसे पहली जीत कानपुर में मिली। भारत ने साल 1959 में कानपुर में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को 119 रन से हराया। तब भारत के कप्तान गुलाबराय रामचंद थे।
भारत के लिए सबसे अधिक कैच राहुल द्रविड़ ने पकड़े हैं। उन्होंने 209 कैच पकड़े हैं।