29 जून को चित्रकूट के घुनवा गांव में बीस साल की ममता की मौत हो गयी.

जिला चित्रकूट, ब्लाक पहाड़ी, गांव भुइहरी के रहैं वाली श्वेता का आरोप हवै कि मोर ममता का ससुराल वाले 29 जून का आगी लगा के मार डारिन हवै। यहिके रपट रैपुरा थाना मा लिखाइगे तो पुलिस कारवाही करैं का भरोसा दिहिस हवै।
ममता के भाई ललित कुमार का कहब हवै कि अपने बहिनी के शादी रामनगर ब्लाक, गांव घुनूवा के मजरा लोहगढ़िया मा रहैं वाले रामभरोसे साथै 2009 मा कीने रहौं। ममता का मनसवा बाहर कमात रहै। यहिसे वा ससुराल मा अकेले रहत रहै।
ममता के ससुराल मा वहिका जेठ रामलाल अउर शंकर परेशान करत रहै। कहत रहैं कि दहेज मा मोटर साइकिल अउर रुपिया लइके आई तबै घर मा रहैं देइबे। ममता के तीन बच्चा रहै। वहिका मनसवा पांच हजार रुपिया भेजिस रहै तौ वहिके जेठ कहत रहैं कि वा रुपिया हमका दइ देव। ममता रुपिया दें से मना कइ दहिस तौ उंई लोग ममता अउर आठ महीना के लड़की के ऊपर मिट्टी का तेल डार के आगी लगा दिहिन। यहिसे उंई दूनौं मरगे हवै। अब ससुराल वाले कहत हवैं कि वा अपने से आगी लगा के मरगे हवै।
भाई का कहा हवै कि या बात गलत हवै। मैं अपने बहिन खातिर नियाय लइके रहिहौं।
रैपुरा थाना के दरोगा श्रवण कुमार का कहब हवै कि सूचना मिली रहै तौ मउके मा पुलिस गे रहै। रपट लिख लीन गे हवै। ममता के तेरहीं होय के बाद उनके खिलाफ कारवाही कइके जेल भेजा जई।
04/07/2016 को प्रकाशित

29 जून को चित्रकूट के घुनवा गांव में बीस साल की ममता की मौत हो गयी. परिवार वालों का मानना है कि उसे ससुराल वालों ने जला दिया