25 जनवरी से बाँदा जिले के लौमर गाँव ले लोग है धरने पर

बांदा जिले के ब्लाक तिंदवारी के गांव लौमर मा 25 जनवरी से गांव के मड़ई धरना मा बइठ हैं। मड़इन का कहब है कि पतली सड़क से बालू खदान के ओवरलोड ट्रक निकलत हैं। जेहिसे आवे जायें वाले मड़इन का बहुतै परेशानी होत हैं। मेनराज का कहब है कि हमार गांव के सड़क पतली है। सादीमदानपुर  के खदान से बालू आवत है अउर हेंया से निकलत हैं। सादीमदानपुर से निकला चाहीं। काहे से ट्रक निकले से बहुतै दुर्घटना होत है। बीमार अउर गर्भवती मेहरिया या सड़क के कारन जल्दी अस्पताल नहीं पहुंच पावत आहीं जेहिसे उनकर मउत होइ जात हैं। राजेश कुमार का कहब है कि या सड़क से  बच्चन के पढ़ाई, बीमार अउर गर्भवती मेहरियन के दवाई  नहीं होइ पावत आय जेहिसे दुई मेहरियन के जान चली गे हैं। जौहत बताइस कि जबै तक सरकार हमार सुनवाई न करिहैं तौ हम यहिनतान जाम लगाये रहिबै। हेंया से एकौ ट्रक न निकले देबै।हमें खदान से कउनौ मतलब नहीं आय उंई आपन ट्रक दूसर सड़क से लइ जायें।राजेन्द्र का कहब है कि पतली सड़क होय से ट्रक फंस जात है तौ निकले मा बहुतै परेशानी होत है। बच्चन के बोर्ड परीक्षा भी आवे वाली हैं। रामहित का कहब है कि सड़क के कारन दुई सौ बच्चा स्कूल पढ़े नहीं जा पायें आहीं।
ए.डी.एम. गंगा राम गुप्ता का कहब है कि बालू खनन का पट्टा पांच साल पहिले भा रहै तबै पट्टा करावे वाला ढाई किलोमीटर सड़क बनवाइस रहै। सड़क समस्या खातिर ध्यान दीन जई।

रिपोर्टर- गीता देवी और शिवदेवी

Published on Jan 31, 2018