2019 के चुनाव पर नज़र रखते हुए, भाजपा पार्टी हर राज्य में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करेगी

केंद्र सरकार ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले पिछले चार वर्षों में सरकार की उपलब्धियों के बारे में प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करने के लिए विभिन्न राज्यों को शीर्ष मंत्रियों को भेज दिया है।
होने वाली इन 31 प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार की सफलताओं की गिनती के लिए कम से कम 15 केंद्रीय मंत्री 21 राज्यों में यात्रा करेंगे।
इसी श्रेणी में 28 मई को कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने गुवाहाटी में एक कार्यक्रम के तहत पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी।
29 मई को केंद्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी, राम विलास पासवान, जेपी नड्डा, स्मृति ईरानी, ​​मनसुख मंडवी और मुख्तार अब्बास नक्वी द्वारा कम से कम सात ऐसी गतिविधियाँ आयोजित की गईं।
वहीँ, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और जितेंद्र सिंह 30 जून को एक सम्मेलन का आयोजन करेंगे, जबकि प्रकाश जावड़ेकर और पियुष गोयल 31 जून को चार अन्य मंत्रियों के साथ इसी तरह के सम्मेलन आयोजित करेंगे।
इसके अलावा, 1 जून को सबसे अधिक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की जाएँगी।
यह प्रेस कॉन्फ्रेंस 4 जून तक जारी रहेंगी और असम, उत्तर प्रदेश, बिहार, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, पंजाब, मध्य प्रदेश, चंडीगढ़, राजस्थान, झारखंड, गुजरात, उत्तराखंड, मणिपुर, जम्मूकश्मीर, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, गोवा और छत्तीसगढ़ जैसे राज्य इसमें शामिल रहेंगे।
यही नहीं, इनमें से कई मंत्री दिल्ली में मंत्रालय के अनुसार भी प्रेम कॉन्फ्रेंस का आयोजन करेंगे।